Our Vision

We are the leading healthcare provider in field of Women health in the entire state of Rajasthan. We are committed to provide best Gynecologist in Bikaner in the field of advanced laparoscopic surgeon, cancer surgeon, Infertility specialists, so that no patient has to go out of Bikaner for any kind of treatment. We are creating new bench marks and breaking myths that top quality health services are a myth in Bikaner. Please see below to find information related to all complex gynecological issues and procedures being done by us. Feel free to contact us for any women health issue.

Best Laparoscopic & Cancer Surgeon

उच्च रक्तचाप एवं डायबिटीज बढ़ाते है रिस्क - इलाज़ में रखें विशेष ख़याल !

उच्च रक्तचाप एवं डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं को इलाज़ में एहतियात बरतने की जरूरत होती है। यह अवस्थाएं हाई रिस्क श्रेणी में आती हैं एवं सर्जरी और उसके बाद रिकवरी में जटिलता पैदा कर सकती हैं।

हाई रिस्क उन स्वास्थ्य समस्याओं को कहते हैं जो इलाज़ में रिस्क बढ़ाते हैं। उच्च रक्तचाप, डायबिटीज, खून की कमी, बेहद अधिक उम्र, अत्याधिक कमजोर या मोटा, एचआइवी पॉजीटिव, टीबी, पीलिया, थायराइड आदि हाई रिस्क श्रेणी में आते हैं।

ऐसे ही हाई रिस्क समस्याओं से पीड़ित महिलाओं के जटिल सर्जरी एवं उपचार किये गए।

पहली तस्वीर में गर्भाशय कैंसर से पीड़ित 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला उच्च रक्तचाप एवं गंभीर डायबिटीज से पीड़ित थी। उनकी हाई रिस्क अवस्था का ध्यान रखते हुए, सभी सावधानियों के साथ, गर्भाशय कैंसर की सफल सर्जरी करी गयी जिसमें गर्भाशय, सर्विक्स, अंडाशय, फैलोपियन ट्यूब और पेल्विक लिम्फ नोड को ऑपरेट किया गया।

दूसरी तस्वीर में इलाज़ के लिए दिल्ली से आयी 74 वर्षीय बुजुर्ग महिला उच्च रक्तचाप से पीड़ित थी। उनकी हाई रिस्क अवस्था का ध्यान रखते हुए, गर्भाशय की दूरबीन द्वारा टोटल लेप्रोस्कोपिक हिस्टेरेक्टॉमी करी गई।
सभी महिलाओं से निवेदन है की अपना रिस्क लेवल जाने और अगर आप हाई रिस्क श्रेणी में आते हैं तो अपना विशेष ख्याल रखें एवं हाई रिस्क उपचार में विशेषज्ञ - स्त्री रोग चिकित्सक से परामर्श लें।

अक्सर हाई रिस्क पेशेंट्स एवं उनके परिजन इलाज से घबराते हैं एवं डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री विस्तार से नहीं बताते। हाई रिस्क होने का मतलब यह कतई नहीं है की मरीज़ अपनी मेडिकल हिस्ट्री छुपाए या अपना इलाज़ ना कराएं एवं तकलीफ सहते रहें।

कृपया करके डॉक्टर से बिलकुल ना हिचकिचाए, जब भी तकलीफ हो परामर्श लें एवं निसंकोच सभी तकलीफें बताएं। डॉक्टर आपके रिस्क लेवल के अनुसार सर्वोत्तम सुझाव एवं उपचार प्रदान करेंगे।

क्या आप इन्हे देखकर कह सकते हैं कि इनका कल एक बड़ी सर्जरी के लिए ऑपरेशन किया गया था ?

बिना चीरे के बड़ी सर्जरी के अगले ही दिन मरीज पूर्ण स्वस्थ हो कर अपने घर जाते हुए।

बिना चीरे या फिर न्यूनतम चीरा सर्जरी का सबसे बडा लाभ है कि चूंकि शरीर को खोला नहीं जाता, इसलिए आसपास के अंगों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता और मरीज जलद स्वथ्य हो कर घर जा सकता है।
किसी भी स्त्री रोग ऑपरेशन से पहले कृपया हमारे साथ बिना चीरा या न्यूनतम चीरा सर्जरी और इसके लाभों के लिए परामर्श करें ।
हमारा प्रयास है कि बीकानेर को बेहतरीन स्त्रीरोग संबधी सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए उपचार में सर्वोत्तम गुणवत्ता, रोगी के लिए न्यूनतम लागत, रोगी को जल्द स्वथ्य करते हुए अस्पताल से जल्द से जल्द संभव छुट्टी एवं बीकानेर में दिल्ली - मुंबई जैसी सर्वोत्तम स्त्रीरोग सुविधा प्रदान करना ।
आपके अच्छे स्वास्थ्य के लिए हमेशा तत्पर ।

टोटल लेप्रोस्कोपिक हिस्टेरेक्टॉमी (टी.एल.एच) : गर्भाशय की सबसे सुरक्षित सर्जरी

इस तस्वीर में दो तथ्य विचारणीय हैं - पहला महिला के चेहरे पर आत्मविश्वास और दूसरा उनके चेहरे पर निश्चिनत्ता ।

आत्मविश्वास अंदरूनी होता है जो स्वयं बल से आता है और निश्चिंतता बाहरी होती है जो अच्छे इलाज़ से आती है। मरीज डॉक्टर से बेहतरीन इलाज की अपेक्षा करते हैं जो कि दर्दरहित, सुरक्षित, शीघ्र एवं किफायती हों। जब ये अपेक्षायें पूरी होती है तब मरीज में निश्चिनत्ता चेहरे पर दिखाई देती है और डॉक्टर के लिए भी ये सबसे सुखद अनुभव होता हैं ।

आपको जान कर अच्छा लगेगा की ये चेहरे पर आत्मविश्वास और निश्चिनत्ता की तस्वीर टोटल लेप्रोस्कोपिक हिस्टेरेक्टॉमी (टी.एल.एच) ऑपरेशन के अगले दिन की है, जो की एक बड़ी सर्जरी है। यह सर्जरी गर्भाशय के लिए की जाती है |

अतीत में हिस्टेरेक्टॅमी पेट पर एक बड़ा चीरा लगाने के बाद ही की जाती थी, जिसके कारण सर्जरी के बाद पीड़ित महिला को स्वस्थ होने में काफी समय लगता था।

लेकिन अब गर्भाशय को निकालने की इस विधि को विश्व भर में पुराना मानते हैं एवम टोटल लेप्रोस्कोपिक हिस्टेरेक्टॉमी (टी.एल.एच) को ही इस सर्जरी के लिए सबसे बेहतरीन माना जाता है |

इसे विडंबना ही कहेंगे कि भारत में छोटे शहरो में अभी भी हिस्टेरेक्टॅमी ओपन सर्जरी के जरिये किए जा रहे हैं जबकि बड़े शहरो मे ज्यादातर हिस्टेरेक्टॅमी लैप्रोस्कोपिक सर्जरी के जरिये ही किये जाते हैं, जो की ओपन सर्जरी की तुलना में काफी ज्यादा सुरक्षित, कारगर व सुविधाजनक है।

इसे जागरूकता की कमी या फिर दक्षता की कमी कहे पर समय के साथ इसे बदलना होगा। चिकित्सा क्षेत्र निरंतर प्रगति कर रहा है एवं बीकानेर में भी अब सबसे आधुनिक तरीकों से इलाज़ संभव है।
अगर आपको टोटल लेप्रोस्कोपिक हिस्टेरेक्टॉमी (टी.एल.एच) और इसके फायदे जानने की जिज्ञासा है तो जरूर संपर्क करें।

Contact Us
Mail Us
drpritirajpurohit@gmail.com